रोल मॉडल उद्धरण

पॉल और सब्रिये संस्थापक ब्रेल विदाउट बॉर्डर्स और आई आई एस इ

हम आश्वस्त हैं कि जागृति यात्रा की यह पहल भारत के भविष्य को सकारात्मक आकार देगी । यह भारतीय युवाओं में उद्यमशीलता की भावना पोषण करने हेतु एक अद्भुत मंच प्रदान करता है जो की आज एक बेहतर कल के लिए अग्रणी है ।

डॉ. एस. अरविन्द अरविन्द आई केयर, मदुरै

हमारे संस्थान में टीम के दौरे के दौरान उनका उर्जा स्तर इतना स्पष्ट और अधिक था कि हमारे संगठन में यही भावना प्रज्ज्वलित हो उठी । इस यात्रा के दौरान कुछ नया सीखने और कुछ नया खोजने की जिज्ञासा एक महत्वपूर्ण परिवर्तनकारी अभिकर्मक है । मै और अरविंद प्रत्येक वर्ष इस कार्यक्रम का बड़ी तत्परता एवं बेसब्री से इंतज़ार करते हैं । ट्रेन में जाकर युवाओं से मिलना एक विशेष अनुभव होता है।

जॉय मदिअथ संस्थापक ग्राम विकास

जागृति यात्रा द्वारा संपूर्ण भारत में इस ट्रेन में यात्रा करने के लिए चुने गए उन युवाओं के लिए एक आजीवन याद रखने वाला अनुभव है । इस यात्रा के दौरान वे विभिन्न सामाजिक उद्यमियों के साथ मिलकर , उनके अनुभवों के खजाने को आत्मसात करते हैं । इस यात्रा से प्राप्त अनुभव धीरे- धीरे प्रतिभागियों के जीवन को रूपांतरित कर देते हैं ।

अंशु गुप्ता संस्थापक गूंज

लोगों के व्यवहारिक एवं वैचारिक स्तर में परिवर्तन लाना काफी चुनौतीपूर्ण काम है । जागृति यात्रा में यह प्रभाव बड़े पैमाने पर और गहरा है । प्रथमतया गूँज में हमने यात्रियों में परिवर्तन देखा है । इस यात्रा के उनकी दृष्टि, विचारों में और व्यवहार में एक विशाल परिवर्तन आया है । जागृति यात्रा, मेरे लिए देश भर से आये 400 उज्जवल युवाओं से ऊर्जा और प्रेरणा प्राप्त करने का एक स्रोत है ।

डॉ. आर. ऐ. मशेलकर पदमश्री

जागृति यात्रा के युवा यात्रियों से मिलने का अवसर निश्चित रूप से मेरे जीवन में एक उच्च बिंदु है । मैं उन्हें प्रेरित करने की आशा करता था किन्तु यहाँ कुछ उल्टा हुआ असल में मैं उनसे प्रेरित हो गया ! हमारी बातचीत बहुत ही स्फूर्तिदायक एवं संतोषप्रद थी ।

नंदिनी वैद्यनाथान संस्थापक स्टार्टअप्प्स

हर व्यक्ति के जीवनकाल में एक उत्कृष्ट पल आता है, और जो ज्यादा भाग्यशाली होते हैं उनके जीवन में ऐसे कई क्षण आते हैं ।शायद मैं उन भाग्यशाली व्यक्तियों में से एक हूँ जिन्हें इन अद्भुत लोगों से मिलने का सौभाग्य प्राप्त हुआ । किन्तु मैं एक बात बताना चाहती हूँ यदि मुझे भविष्य में आने वाली पीढियों को विरासत में कुछ देने का अवसर प्राप्त हुआ तो निश्चित ही ये हैदराबाद के टीसीएस परिसर में 2 जनवरी 2010 को हुई जागृति यात्रा होगी । मैं किसी तैयारी के लिए नहीं बल्कि अनुभव प्राप्त करने के लिए जा रही हूँ ।

उषा एस. संस्थापक थानल

हम आप सभी को देखकर उत्साहित है , विशेषकर युवाओं को देखकर । यह उनके जीवन का एक ऐतिहासिक पल होता है।

जी. विजयराघवन संस्थापक टेक्नोपार्क,त्रिवेंद्रम

यात्रियों के साथ बिताया गया समय मेरे लिए आनंददायक था और मुझे इस बात की ख़ुशी है कि मेरी बातचीत उनके लिए उपयोगी सिद्ध हुई ।

चेतना सिन्हा संस्थापक मनन देशी बैंक और मनन देशी फाउंडेशन

जब मैंने जागृति यात्रा में भाग लिया तो इसने मुझे मेरे बचपन के दिनों में शामिल गांधीवादी आन्दोलन की याद दिला दी । यह यात्रा जुनून, ऊर्जा और खुशी से भरी थी ।

मधुरा छत्तरपति संस्थापक अध्यक्ष अवेक (एसोसिएशन ऑफ़ वीमेन आन्ट्रप्रनर ऑफ़ कर्नाटक), ट्रस्टी डायरेक्टर ऑफ़ एशियन सेंटर फॉर आन्ट्रप्रनरीअल  इनिशीअटिव –एसेंट

मेरा विश्वास है कि उद्यमिता एक दृष्टिकोण है , यह पूर्णतः नवपरिवर्तन एवं नेटवर्किंग पर आधारित है । यह एक दृष्टिकोण है जिसका पोषण कड़े अनुभवनात्मक निर्देशों से किया जाता है । मैं जागृति यात्रा का 300 % समर्थन करती हूँ क्योंकि मैं अपने सामाजिक और व्यापारिक लाइफ मैं आज जो भी हूँ उसका एकमात्र कारण मेरा जोखिम लेना है । जागृति यात्रा युवा पुरुषों और महिलाओं के लिए जोखिम लेने की क्षमता प्रदान करता है , कभी कभी इसकी जरुरत व्यक्तियों में से उनकासर्वश्रेष्ठ बाहर निकलने की होती है ।

यात्री उद्धरण

गौरव बजाज

यह यात्रा अंधेरो से घिरी दुनिया में एक प्रकाश के समान है । इस उदहारण से पता चलता है कि ये उम्मीद की एक किरण है । यात्रा ने हमें एक नया 'परिप्रेक्ष्य और दिशा' प्रदान की है और यात्रा के दौरान विकसित हमारे संबंध हमेशा के लिए हमे याद रहेंगे ।

पराग अवस्थी

यात्रा ने मुझे सहिष्णु होना और अन्य राय को स्वीकार करना सिखाया है । इसने मुझे एक विचारक से एक कार्यकर्ता में रूपांतरित किया है ।

कल्याणी खोडके

अरविंद आई केयर का वित्तीय मॉडल प्रभावशाली था, लेकिन वास्तव में मुझे जिसने छुआ वो इसकी आत्मा थी जो की इसकी सादगी थी एवं जो बहुत ही शक्तिशाली थी ।

लेखा नायडू

खिड़की के बाहर हर रोज़ एक नया परिद्रश्य प्रकट होता था । किन्तु ट्रेन के अन्दर भारत के विभिन्न हिस्सों से चुनी हुई भाषा और विचारों की विभिन्नता अभूतपूर्व थी ।

रघु तेंकायला

यह एक समृद्ध ट्रेन थी , किन्तु यह भौतिक स्वरुप में न होकर प्रेरणादायक स्वप्नों , विचारो एवं कार्ययोजना के रूप में थी ।

सुन्रिता सहस्त्रबुद्धि

मैं खुद को अब अकेला एवं सबसे अलग महसूस नहीं करती थी । मैं खुद को युवा भारतीयों के ऐसे विशाल सागर में पाती थी जो कि सकारात्मक ,उद्यमिता एवं नैतिकता से ओत प्रोत था।

Registrations open for Jagriti Yatra 2021

Apply Now

Equal partners in Building India through Enterprise

Special scholarship for women