जागृति यात्रा: उद्घाटन समारोह, मुंबई

जागृति यात्रा का उद्घाटन समारोह कल ‘टी आई एस एस’ के सभागार मे सम्पन्न हुआ । इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप मे ‘श्री किशोर माध्यन’ उपस्तिथ थे । उन्होने सभी यात्रियों को जीवंत उदाहरणों से निरंतर सीखते रहने का संदेश दिया ।  साथ ही पुस्तकों के अध्ययन पर उन्होने खासा जोड दिया । उन्होनें कहा की यात्रा की लंबी अवधि के दौरान सीखने के लिए ये ज़रूरी है की यात्री पूर्वाग्रहों का त्याग कर नए अनुभवों के लिए तैयार रहें ।  
 
                                                                              उद्घाटन समारोह, मुंबई
 आदरणीय रेल मन्त्री ‘श्री सुरेश प्रभु‘ ने वीडियो के ज़रिए सभी युवा यात्रियों को ‘डिजिटल भारत’ से सकरात्मक बदलाव लाने के लिए नवीन उद्यम लगाने का सन्देश दिया ।
 जागृति के अध्यक्ष ‘श्री शशांक मणि त्रिपाठी‘ ने अगले बीस वर्षों मे ‘उद्यम से भारत निर्माण’ के लक्ष्य मे  मध्य भारत के युवाओं के ऊर्जा को दिशा देने की तात्कालिकता का एह्सास कराया |
 
इस अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन हुआ | ‘जागृति गीत’ पर प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना ‘गौरी शर्मा त्रिपाठी‘ ने सभी युवाओं को झूमाया | 
 
‘जागृति एंटरप्राइज सेंटर – पूर्वांचल‘ के प्रतिकृति का अनावरण भी किया गया जिसे तृप्ति दोशी ने एक दो सौ वर्ष पूराने बरगद के पेड के चारों ओर डिजाइन किया है । 
 
इस केन्द्र मे ही इन्क्युबेटेड ‘देवरिया डिजाइन्स’ की कहानी को ‘पूजा शाही’ और ‘प्रीति’ ने साझा किया | पूजा ने बताया की ‘ज़ागृति ने किस प्रकार ‘देवरिया’ जैसे जिले मे उनके हुनर को पह्चाना, उन्हें सही मार्ग दर्शकों से जोडा जिसके परिणाम स्वरूप उनकी हस्त शिल्प  को दुबई शहर के  प्रदर्शनियों मे स्थान मिल सका । उन्हें विश्वास है कि आने वाला केन्द्र उनके जैसी ग्रामीण परिवेश से आने वाली कई पूजाओं के सपनों को पूरा करेगा ।
 
जागृति यात्रा सम्पूर्ण भारत का परिभ्रमण करेगी, साथ ही उद्यम से भारत निर्माण के लक्ष्य मे यह सभी पडावों से मिट्टी के कणों को लेकर, आने वाले केन्द्र की आधार शिला बनाएगी | 
श्नाइडर एलेक्ट्रिक‘, जो जागृति यात्रा 2016 के मुख्य सहायक है की ओर से अनामिका भार्गव ने भी युवाओं को ऊर्जा के क्षेत्र मे सामाजिक पहल करने की प्रेरणा दी |